“याददाश्त बढ़ाने के लिए करें यह 5 योगासन”।।।

याददाश्त को लेकर अधिकतर सभी की शिकायत रहती है कुछ लोगों की समस्या होती है कि परीक्षा देते समय याद किया हुआ सब कुछ भूल जाते हैं, तो कुछ लोग कोई वस्तु कहीं रखकर भूल जाते हैं। बहुत से लोग अपने बच्चों की याददाश्त को लेकर परेशान रहते हैं उसके लिए वह डॉक्टर से परामर्श लेना भी नहीं भूलते परंतु याददाश्त का हल डॉक्टर के पास भी नहीं होता। ऐसे में अच्छा खान-पान,सेहतमंद जीवन शैली तथा योगासनों के द्वारा अच्छी याददाश्त पाई जा सकती है।

यहां में याददाश्त बढ़ाने में कारगर 5 योगासनों का उल्लेख कर रही हूं जो आपकी याददाश बढ़ाने में अवश्य कारगर होंगे।

 

1-: सर्वांगासन-: इस आसन में सीधे लेट जाएं फिर दोनों पैरों को उठाते हुए 90 डिग्री तक ऊपर की तरफ ले आए पूरा वजन गर्दन पर केंद्रित करें, हाथों को कमर पर रखते हुए शरीर को सहारा दें, पैरों को एकदम सीधा रखें कुछ देर तक इसी मुद्रा में रहे फिर वापस सामान्य अवस्था में आ जाएं, इस आसन को दोहराएं इस आसन को रोजाना करने से आपको अवश्य ही लाभ होगा।

 

2-: भुजंगासन-: भुजंगासन का मतलब होता है सर्प का आसन इस आसन को करते समय पेट के बल लेट जाएं दोनों हाथों को कंधे के पास रखे और ढोड़ी को जमीन पर टिका दें लंबी सांस भर कर सिर और छाती को ऊपर की तरफ उठाएं साथ ही सामान्य तरह से सांस लेते रहे कुछ देर इस अवस्था में रहें फिर सामान्य अवस्था में लौट आए यह आसन याददाश्त बढाने के साथ कमर दर्द, स्लिप डिस्क की समस्याओं में भी लाथप्रद है।

3-: हलासन-: सर्वांगासन की स्थिति में पहुंचने के बाद दोनों पैरों को सिर के पीछे जमीन पर टिकाने की कोशिश करें आंखें बंद करें तथा कमर को पीछे झुकाने के लिए हाथों का सहारा ले। क्षमता अनुसार इसी स्थिति में बने रहें ध्यान रखें घुटने ना मुडें। फिर सामान्य अवस्था में लौट आए।

4-: वृक्षासन-: वृक्षासन में सावधान मुद्रा में खड़े होकर दाये पैर को घुटने से मोड़ते हुए तलवे को बाई जंघा पर जितना अंदर हो सके टिका दें दोनों हाथों को नमस्कार पोजीशन में सिर के ऊपर सीधा ताने इसी अवस्था में कुछ देर रहने के बाद सामान्य अवस्था में आ जायें फिर दूसरे पैर के साथ दुहरायें।

5-: प्राणायाम-: प्राणायाम भी अच्छी याद्दाश्त के लिए बहुत लाभदायक है ध्यान की मुद्रा में बैठकर ऊँ का जाप करें एक ही स्थान पर ध्यान केंद्रित करने से मन की एकाग्र शक्ति बढ़ती है।ध्यान के साथ कपालभांंति,भ्रामरी भी यादाश्त तेज करने में सहायक है।

(Visited 125 times, 1 visits today)
* Advertisement
*

Leave a Reply