“क्रिस्टोफर कोलम्बस” जाने कैसे की अमेरिका की खोज।।

क्रिस्टोफर कोलम्बस वह व्यक्ति थे जिसने अमेरिका की खोज की। कोलम्बस को समुद्री यात्रा करने का बहुत शौक था कोलम्बस की समुद्री यात्राओं से ही यह स्पष्ट हुआ कि धरती गोल है।

इस लेख से आप कोलम्बस से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जानेंगे-:

1-: कोलम्बस का जन्म इटली में हुआ था उनके पास विरासत में मिला हुआ ना कोई धन ना कोई संपत्ति। कोलम्बस के पिता एक बुनकर थे वह चाहते थे कि कोलम्बस भी उनका यह पेशा अपनाये लेकिन कोलम्बस पढ़ना चाहते थे परंतु घर की दयनीय स्थिति के चलते वह कम समय के लिए ही स्कूल जा सके।

2- लोग मानते थे कि दुनिया सपाट है लेकिन कोलम्बस ने यह सिद्ध किया कि दुनिया गोल है।

3-: कोलम्बस ने जब यात्रा शुरू की तो वह भारत की खोज करने निकले थे लेकिन एक नई दुनिया अमेरिका की खोज कर ली।

4-: कोलम्बस ने कुछ दिन की पढ़ाई से लैटिन और यूरोप में प्रचलित कैस्टियन भाषा सीख ली थी उन्होंने अपना ज्ञान बढ़ाने के लिए एक किताबों की दुकान पर भी नौकरी की।

5-: 14 वर्ष की उम्र में जब कोलम्बस ने अपनी यात्रा शुरु की तब उनका जहाज इंग्लैंड की ओर जा रहा था उस समय पुर्तगाल के पास समुद्री लुटेरों ने जहाज पर हमला कर दिया और आग लगा दी किसी तरह से कोलम्बस ने अपनी जान बचाई।

6-: कोलम्बस ने पुर्तगाल के राजा जॉन द्वितीय के सामने भारत की खोज का प्रस्ताव रखा था परंतु उसे निकार दिया गया उसके बाद कोलंबस स्पेन चले गए।

7-: 1492 में कोलम्बस ने पहली यात्रा स्पेन के पाल़ोस बंदरगाह से प्रारंभ की 11 अक्टूबर के दिन दूर से कोलम्बस को एक रोशनी दिखाई दी उस रोशनी का पीछा करते हुए कोलम्बस 12 अक्टूबर को अमेरिका जा पहुंचे।

8-: सबसे पहले कोलम्बस ने अमेरिका की जमीन पर कदम रखा अमेरिका पहुंचते ही कोलम्बस को लगा कि वह भारत पहुंच गए जबकि वह दक्षिण अमेरिका पहुंच गए थे लिहाजा यह भी कोलम्बस के लिए एक नई दुनिया थी।

9-: उस दौरान 5 महाद्वीप माने जाते थे लेकिन जब कोलम्बस ने अमेरिका की खोज की तो अमेरिका को छठां महाद्धीप मान लिया गया।

10-: कोलंबस का भारत खोज का सपना कभी पूरा नहीं हो सका क्योंकि 1498 में पुर्तगाल के निवासी वास्कोडिगामा ने भारत की खोज कर ली थी।

11-: कोलंबस समुद्री हलचल से होने वाले सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण का पता लगा लेते थे तथा समुद्री ज्ञान और अनुभव की वजह से तूफानों की गणना और मौसम की भविष्यवाणी एकदम सटीक करते थे।

(Visited 34 times, 1 visits today)
* Advertisement
*

Leave a Reply